परमेश्वर के दैनिक वचन : परमेश्वर के कार्य को जानना | अंश 227

क्या तुम लोग सच में विशाल लाल अजगर से घृणा करते हो? क्या तुम सच में निष्ठा से घृणा करते हो? मैंने तुम लोगों से इतनी बार क्यों पूछा है? मैं तुमसे यह प्रश्न बार-बार क्यों पूछता हूँ? तुम सबके हृदय में उस विशाल लाल अजगर की क्या आकृति है? क्या उसे वास्तव में हटा दिया गया है? क्या तुम लोग सचमुच में उसे अपना पिता नहीं मानते हो। सभी लोगों को मेरे प्रश्नों में मेरे अभिप्राय को जानना चाहिए। यह लोगों के क्रोध को भड़काने के लिए नहीं है न ही मनुष्यों के मध्य विद्रोह को उत्तेजित करने के लिए है न ही इसलिए कि मनुष्य अपना मार्ग स्वयं ढूँढ़ सके, परन्तु यह लोगों को अनुमति देना है कि वे अपने आपको उस बड़े लाल अजगर से छुड़ा लें। फिर भी किसी को चिंता नहीं करनी चाहिए। सब कुछ मेरे वचनों के द्वारा पूरा हो जाएगा। चाहे कोई मनुष्य भागी न हो, और न कोई मनुष्य वह काम कर सकता है जिसे मैं करूँगा। मैं सारी भूमि की हवा पोंछ के स्वच्छ करूँगा और पृथ्वी पर से दुष्टात्माओं का पूर्ण रूप से नाश कर दूँगा। मैं पहले से ही शुरू कर चुका हूँ, और अपनी ताड़ना कार्य के पहले कदम को उस विशाल लाल अजगर के निवास स्थान में आरम्भ करूँगा। इस प्रकार यह देखा जा सकता है कि मेरी ताड़ना पूरे ब्रह्माण्ड के ऊपर आ गई है, और वह विशाल लाल अजगर और सभी प्रकार की अशुद्ध आत्माएँ मेरी ताड़ना से बच पाने में सामर्थी नहीं होंगे क्योंकि मैं समूची भूमिपर निगाह रखता हूं। जब मेरा कार्य पृथ्वी पर पूरा हो जाएगा अर्थात्, जब न्याय का युग समाप्त होगा मैं औपचारिक रूप से उस विशाल लाल अजगर को ताड़ना दूँगा। मेरे लोग उस विशाल लाल अजगर की न्याय परायण ताड़ना को देखेंगे, वे मेरी धार्मिकता के कारण अपनी स्तुति को उड़ेल देंगे, और मेरी धार्मिकता के कारण सदा सर्वदा मेरे पवित्र नाम की बड़ाई करते रहेंगे। अब से तुम लोग अपने कर्तव्यों को औपचारिक तौर पर निभा पाओगे, और सारी धरती पर औपचारिक तौर पर मेरी स्तुति करोगे, हमेशा-हमेशा के लिए!

जब न्याय का युग अपने शिखर पर पहुंचेगा, तो मैं अपने कार्य को पूर्ण करने में जल्दबाजी नहीं करूँगा, किन्तु उस में ताड़ना के युग के प्रमाण को जोडूँगा और अपने सभी लोगों को इस प्रमाण को देखने की अनुमति दूँगा; और इस से अत्यधिक फल उत्पन्न होंगे। यह प्रमाण वह माध्यम है जिसके द्वारा मैं उस विशाल लाल अजगर को ताड़ना दूँगा, और मैं अपने लोगों को अपनी आँखों से उसे देखने दूँगा ताकि वे मेरे स्वभाव को और भी अच्छी तरह से जान सकें। जब उस विशाल लाल अजगर को ताड़ना दी जाती है तब उस समय मेरे लोग मुझ में आनंद करते हैं। उस बड़े लाल अजगर के लोगों को उसके ही विरूद्ध उभारना और विद्रोह करवाना मेरी योजना है, और वह तरीका है जिस से मैं अपने लोगों को पूर्ण करता हूँ, और मेरे सभी लोगों के लिए जीवन में आगे बढ़ने के लिए यह एक बड़ा अवसर है।

— 'वचन देह में प्रकट होता है' से उद्धृत

परमेश्वर के वचन से सब-कुछ पूरा होता है

परमेश्वर के वचन से सब काम पूरा होगा; हो न सके कोई इंसान सहभागी, न कोई कर सके वो काम जो वो करेगा, क्योंकि होता सब काम पूरा परमेश्वर के वचन से। परमेश्वर हर देश की हवा निर्मल करेगा, दुष्टात्माओं को धरती से साफ़ करेगा। लाल अजगर की धरती पर हो चुकी है शुरू उसकी ताड़ना। (इस तरह) देख सकते हैं परमेश्वर की ताड़ना कायनात में। परमेश्वर की सज़ा से कोई बच नहीं सकता, न लाल अजगर, न गंदी आत्माएँ, क्योंकि नज़र है उसकी सारी धरती पर। परमेश्वर के वचन से सब काम पूरा होगा; हो न सके कोई इंसान सहभागी, न कोई कर सके वो काम जो वो करेगा, क्योंकि होता सब काम पूरा परमेश्वर के वचन से।

जब परमेश्वर का काम धरती पर पूरा हो जाएगा, जब न्याय पूरा हो जाएगा, विधिवत रूप से देगा ताड़ना वो लाल अजगर को। देखेंगे फिर परमेश्वर जन उसकी लाई सज़ा को। स्तुति करेंगे परमेश्वर की सभी, स्तुति करेंगे उसकी सदा उसकी धार्मिकता के लिये। परमेश्वर के वचन से सब काम पूरा होगा; हो न सके कोई इंसान सहभागी, न कोई कर सके वो काम जो वो करेगा, क्योंकि होता सब काम पूरा परमेश्वर के वचन से।

विधिवत रूप से निभाओगे अपना फ़र्ज़ तुम लोग, स्तुति करोगे परमेश्वर की अनंत काल तक धरती पर। विधिवत रूप से निभाओगे अपना फ़र्ज़ तुम लोग, स्तुति करोगे परमेश्वर की अनंत काल तक धरती पर। परमेश्वर के वचन से सब काम पूरा होगा; हो न सके कोई इंसान सहभागी, न कोई कर सके वो काम जो वो करेगा, क्योंकि होता सब काम पूरा परमेश्वर के वचन से।

'मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ' से

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

संबंधित सामग्री

परमेश्वर के दैनिक वचन : इंसान की भ्रष्टता का खुलासा | अंश 372

मानवजाति ने मेरी गर्मजोशी का अनुभव किया, उन्होंने ईमानदारी से मेरी सेवा की, और वे ईमानदारी से मेरे प्रति आज्ञाकारी थे, मेरी उपस्थिति में...

परमेश्वर के दैनिक वचन : इंसान की भ्रष्टता का खुलासा | अंश 310

कई हजार वर्षों की प्राचीन संस्कृति और इतिहास के ज्ञान ने मनुष्य की सोच और धारणाओं तथा उसके मानसिक दृष्टिकोण को इतना कसकर बंद कर दिया है कि...

परमेश्वर के दैनिक वचन : परमेश्वर का प्रकटन और कार्य | अंश 53

सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अनन्‍तकाल का पिता, शांति का राजकुमार, हमारा परमेश्वर राजा है! सर्वशक्तिमान परमेश्वर अपने चरण जैतून के पर्वत पर रखता...

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें