Hindi Christian Testimony Video | शिकायत करूं या न करूं | True Story of a Christian

12 जनवरी, 2022

कलीसिया में काम करते हुए, मुख्य किरदार को पता चलता है कि उसका टीम-अगुआ अपने काम में हमेशा लापरवाह और गैर-ज़िम्मेदार रहता है, और वह भाई-बहनों द्वारा दिये गये संकेतों और मदद को स्वीकार नहीं करता। वह उन झूठे अगुआओं और कर्मियों में से एक था, जो व्यवहारिक कार्य नहीं करते और जिन्हें उजागर किया जाना चाहिए और जिनकी शिकायत की जानी चाहिए। मगर मुख्य किरदार उसे नाराज़ कर मुसीबत मोल लेने से डरती है, इसलिए वह खुद को बचाने की कोशिश में समस्या के बारे में बोलने से झिझकती है। इससे कलीसिया का काम पिछड़ जाता है। परमेश्वर के वचनों के न्याय का अनुभव करने के बाद, वह अपने स्वार्थी और कुटिल भ्रष्ट स्वभाव की समझ हासिल करती है, और ख़ुद से नफ़रत करने लगती है। आखिरकार, वह परमेश्वर की अपेक्षा के अनुरूप टीम के अगुआ को उजागर कर उसकी शिकायत कर देती है, और उसे बर्खास्त कर दिया जाता है। इस अनुभव से वह समझ जाती है कि परमेश्वर के घर में सत्य और धार्मिकता का शासन होता है, इससे सत्य का अभ्यास करने और एक ईमानदार इंसान बनने में उसकी आस्था को बल मिलता है।

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें