Hindi Christian Testimony Video Based on a True Story | भ्रष्टता के बंधन

03 नवम्बर, 2021

नायिका एक अगुआ है, उसे पता चलता है कि नई चुनी गई अगुआ, बहन चेन में अच्छी काबिलियत है और वह सत्य पर प्रभावशाली संगति करने में सक्षम है। उसे यह चिंता होने लगती है कि बहन चेन उससे आगे निकल जाएगी। उसे लगता है कि बहन चेन के कारण उसकी इज़्ज़त और रुतबे पर खतरा मंडरा सकता है। अपने भ्रष्ट स्वभाव के बंधनों में जकड़ी, वह हर मोड़ पर इस नई अगुआ से प्रतिस्पर्धा करने लगती है। जब वह देखती है कि सत्य पर बहन चेन की संगति समस्याओं को हल करती है, उसकी संगति से बेहतर होती है और उसे भाई-बहनों से सम्मान और स्वीकृति मिलती है, तो वह नकारात्मकता में जीने लगती है और उसमें बहन चेन के ख़िलाफ़ वैर भाव पैदा हो जाता है। वह कलीसिया में किये जाने वाले काम की परवाह किए बिना उस कलीसिया को छोड़ने पर विचार करने लगती है। मगर बाद में, परमेश्वर के वचनों के न्याय और ताड़ना से उजागर किये जाने पर, उसे खुद की कुछ समझ हासिल होती है और वह अपने भ्रष्ट स्वभाव के बंधनों से बचकर निकलने में सफल होती है। उसे आज़ादी का एहसास होता है। नायिका का अनुभव क्या है? परमेश्वर के किन वचनों के मार्गदर्शन से वह अपनी नकारात्मक स्थिति से बाहर निकल पायी? आइये साथ मिलकर उसकी बात सुनते हैं।

और देखें

2022 के लिए एक खास तोहफा—प्रभु के आगमन का स्वागत करने और आपदाओं के दौरान परमेश्वर की सुरक्षा पाने का मौका। क्या आप अपने परिवार के साथ यह विशेष आशीष पाना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें