Hindi Christian Testimony Video Based on a True Story | स्वार्थ छोड़कर मिली है मुक्ति मुझे

03 नवम्बर, 2021

जब मुख्य किरदार भाई झांग के साथ मिलकर अपनी कलीसिया में काम करना शुरू करता है, तो वह अपने पद को बनाये रखने के लिए हमेशा भाई झांग के साथ अपना पूरा ज्ञान साझा नहीं करता, उसे डर है कि "जब कोई छात्र हर वो चीज़ सीख जाएगा जो उसका गुरु जानता है, तो गुरु के हाथ से उसकी आजीविका चली जाएगी।" क्योंकि वह हमेशा स्वार्थी इच्छाओं के बारे में ही सोचता रहता है और सत्य का अभ्यास करने में विफल होता है, इसलिए वह अपने काम में कुछ भी हासिल नहीं कर पाता और अंधकार की अवस्था में गिर जाता है। जब वह सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों के न्याय और ताड़ना से गुज़रता है, तो उसे पता चलता है कि शैतान के ज़हर और जीवन जीने के उसके फलसफ़ों ने उसे स्वार्थी, धोखेबाज बना दिया है और उसमें इंसानियत का अभाव पैदा कर दिया है, इससे परमेश्वर को घृणा होती है। फिर वह अपने निजी हितों को अलग रखकर बिना कुछ छुपाये भाई झांग के साथ अपने सारे ज्ञान को साझा करता है। तब वह शांत और सहज महसूस करने लगता है, वह उस आनंद का अनुभव करता है जो सत्य का अभ्यास करने से मिलता है।

और देखें

परमेश्वर की ओर से एक आशीर्वाद—पाप से बचने और बिना आंसू और दर्द के एक सुंदर जीवन जीने का मौका पाने के लिए प्रभु की वापसी का स्वागत करना। क्या आप अपने परिवार के साथ यह आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं?

साझा करें

रद्द करें

WhatsApp पर हमसे संपर्क करें