परमेश्वर के दैनिक वचन | "परमेश्वर के सबसे नए कार्य को जानो और उसके चरण-चिन्हों का अनुसरण करो" | अंश 398

वे सभी धन्य हैं जो पवित्र आत्मा की वर्तमान उक्तियों का पालन करने में सक्षम हैं। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे कैसे थे, या उनके भीतर पवित्र आत्मा कैसे कार्य किया करता था—जिन्होंने नवीनतम कार्य को प्राप्त किया है वे सबसे अधिक धन्य हैं, और जो लोग आज के नवीनतम कार्य का अनुसरण नहीं कर सकते हैं, वे हटा दिए जाते हैं। परमेश्वर उन्हें चाहता है जो नई रोशनी को स्वीकार करने में सक्षम हैं, और वह उन्हें चाहता है जो उसके नवीनतम कार्य को स्वीकार करते और जान लेते हैं। ऐसा क्यों कहा गया है कि तुम लोगों को शुद्ध कुँवारी होना चाहिए? एक शुद्ध कुँवारी पवित्र आत्मा के कार्य की तलाश करने में और नई चीज़ों को समझने में सक्षम होती है, और इसके अलावा, पुरानी अवधारणाओं को दूर करने और परमेश्वर के आज के कार्य का अनुसरण करने में सक्षम होती है। इस समूह के लोगों को, जो आज के नवीनतम कार्य को स्वीकार करते हैं, परमेश्वर ने युगों पहले ही पूर्वनिर्धारित किया था, और वे सभी लोगों में सबसे अधिक धन्य हैं। तुम लोग सीधे परमेश्वर की आवाज सुनते हो, और परमेश्वर की उपस्थिति का दर्शन करते हो, और इस तरह, समस्त स्वर्ग और पृथ्वी में, और सारे युगों में, कोई भी तुम सब से, लोगों के इस समूह से, अधिक धन्य नहीं है। यह सब परमेश्वर के कार्य के कारण है, परमेश्वर के पूर्व-निर्धारण और चयन के कारण, और परमेश्वर की कृपा के कारण है; अगर परमेश्वर ने बात नहीं की होती और अपने वचनों को नहीं कहा होता, तो क्या तुम लोगों की परिस्थितियाँ वैसी होतीं जैसी कि आज हैं? इस प्रकार, सभी महिमा और प्रशंसा परमेश्वर की हो, क्योंकि यह सब इसलिए है क्योंकि परमेश्वर ने तुम लोगों को उठाया है। इन बातों को ध्यान में रखते हुए, क्या तुम अभी भी निष्क्रिय हो सकोगे? क्या तुम्हारी शक्ति अभी भी उठने में असमर्थ होगी?

तुम्हारा परमेश्वर के शब्दों के न्याय, ताड़ना, प्रहार, और शुद्धिकरण को स्वीकार करने में सक्षम होना, और इसके अलावा, परमेश्वर के आदेशों को स्वीकार कर पाना, समय की शुरुआत में परमेश्वर द्वारा पूर्वनिर्धारित किया गया था, और इस प्रकार जब तुम्हें प्रताड़ित किया जाए तो तुम्हें बहुत व्यथित नहीं होना चाहिए। तुम लोगों में जो कार्य किया गया है, और तुम सब के भीतर जो आशीर्वाद दिए गए हैं उन्हें कोई भी दूर नहीं कर सकता है, और जो सब तुम सभी को दिया गया है वह कोई भी छीन कर नहीं ले जा सकता है। धर्म के लोग तुम सब के साथ तुलना में ठहर नहीं सकते। तुम लोगों के पास बाइबल में महान विशेषज्ञता नहीं हैं, और तुम सब धार्मिक सिद्धांत से लैस नहीं हो, परन्तु चूँकि परमेश्वर ने तुम सभी के भीतर कार्य किया है, तुम लोगों ने सारे युगों में अन्य किसी से भी ज्यादा लाभ पाया है—और इसलिए यह तुम लोगों का सबसे बड़ा आशीर्वाद है। इस वजह से, तुम सभी को परमेश्वर के प्रति और भी अधिक समर्पित होना चाहिए, परमेश्वर के प्रति और भी अधिक निष्ठावान। क्योंकि परमेश्वर तुम्हें उठाता है, तुम्हें अपने प्रयासों को संभालना होगा, और परमेश्वर के आदेशों को स्वीकार करने के लिए अपने कद को तैयार करना होगा। परमेश्वर द्वारा दी गई जगह में तुम्हें दृढ़ खड़ा होना चाहिए, तुम्हें परमेश्वर के लोगों में से एक बनने का अनुसरण करना, राज्य के प्रशिक्षण को स्वीकार करना, परमेश्वर द्वारा विजित होना चाहिए और अंततः परमेश्वर का एक गौरवपूर्ण गवाही बनना चाहिए। क्या ये संकल्प तुम्हारे पास हैं? यदि तुम्हारे पास ऐसे संकल्प हैं, तो अंततः तुम निश्चित रूप से परमेश्वर द्वारा प्राप्त होगे, और परमेश्वर के लिए एक शानदार गवाही बन जाओगे। तुम्हें यह समझना चाहिए कि प्रमुख आदेश परमेश्वर द्वारा प्राप्त किया जाना है और परमेश्वर के लिए एक शानदार गवाही बन जाना है। यही परमेश्वर की इच्छा है।

— 'वचन देह में प्रकट होता है' से उद्धृत

जो नये काम को स्वीकारते हैं वो धन्य हैं

धन्य हैं जो नए कार्य को करते हैं स्वीकार। धन्य हैं जो नए कार्य को करते हैं स्वीकार। धन्य हैं वो सब जो करते हैं पालन, पवित्र आत्मा के आज के कथनों का। नहीं फ़र्क पड़ता कि वे कैसे हुआ करते थे, या पवित्र आत्मा उनमें कैसे काम किया करता था— धन्य हैं वे ज़्यादा सबसे, जिन्होंने पा लिया है नवीनतम कार्य। आह ... आह ... धन्य हैं वे ज़्यादा सबसे, जिन्होंने पा लिया है नवीनतम कार्य, और जो नाकाम हैं नवीनतम कार्य का, पालन कर पाने में, हटा दिए गए हैं।

परमेश्वर चाहता है उन्हें, जो कर पाते हैं नई रोशनी को स्वीकार, और चाहता है उन्हें, जो करते हैं नवीनतम कार्य को स्वीकार। वो कर पाते हैं खोज पवित्र आत्मा के काम की और समझ पाते हैं नई चीज़ों को, और कर पाते हैं दरकिनार पुरानी धारणा को, और करते हैं पालन आज, परमेश्वर के काम का। आह ... आह ... लोगों का ये समूह, जो आज के नवीनतम कार्य को, करता है स्वीकार, कर चुका था परमेश्वर जिन्हें नियत पहले से, युगों पूर्व, और धन्य हैं ज़्यादा सबसे वो लोग।

सुनते हो सीधे ही परमेश्वर की आवाज़ तुम लोग, और निहारते हो परमेश्वर का प्रकटन, और निहारते हो परमेश्वर का प्रकटन, और इसलिए, पूरे धरती और आकाश में, और युगों-युगों में, नहीं है इतना कोई धन्य, जितना तुम लोगों का ये समूह है। आह … आह ... और इसलिए, पूरे धरती और आकाश में, और युगों-युगों में, नहीं है इतना कोई धन्य, जितना तुम लोगों का ये समूह है। नहीं है इतना कोई धन्य, जितना तुम लोगों का ये समूह है। नहीं है इतना कोई धन्य, जितना तुम लोगों का ये समूह है।

'मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ' से

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

परमेश्वर के दैनिक वचन | "पतरस के अनुभव: ताड़ना और न्याय का उसका ज्ञान" | अंश 529

आदम और हव्वा जिन्हें परमेश्वर के द्वारा आदि में बनाया गया था वे पवित्र थे, दूसरे शब्दों में, जब वे अदन की वाटिका में थे तब वे पवित्र थे, और...

परमेश्वर के दैनिक वचन | "केवल वे लोग ही परमेश्वर की गवाही दे सकते हैं जो परमेश्वर को जानते हैं" | अंश 86

परमेश्वर न्याय और ताड़ना का कार्य करता है ताकि मनुष्य उसे जाने, और उसकी गवाही को जाने। मनुष्य के भ्रष्ट स्वभाव पर परमेश्वर के न्याय के...

परमेश्वर के दैनिक वचन | "परमेश्वर का कार्य और मनुष्य का कार्य" | अंश 180

आप सभी को जानना होगा कि परमेश्वर के कार्य से मनुष्य के काम को कैसे अलग किया जाता है। आप मनुष्य के काम से क्या देख सकते हैं? मनुष्य के काम...