सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया का ऐप

परमेश्वर की आवाज़ सुनें और प्रभु यीशु की वापसी का स्वागत करें!

सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

सच्चे मार्ग की खोजबीन पर एक सौ प्रश्न और उत्तर

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

87. चूंकि शैतान और दुष्ट आत्माओं ने मानवजाति को जीवित, मलिन राक्षसों में बदल दिया है, तो परमेश्वर ने उन्हें जल्दी नष्ट क्यों नहीं किया?

परमेश्वर के वचन से जवाब:

कुछ लोग ऐसे हैं, यद्यपि वे सर्वशक्तिमान परमेश्वर पर विश्वास करते हैं, जिनकी परमेश्वर की सर्वशक्तिमत्ता के बारे में बिल्कुल समझ नहीं है। वे लगातार नुकसान में रहते हैं, सोचते रहते हैं कि: "परमेश्वर सर्वशक्तिमान हैं, उनके पास अधिकार है और वे सभी पर हावी हो सकते हैं, तो फिर भी उन्होंने शैतान को क्यों बनाया और क्यों उसे छह हजार सालों से मनुष्य को भ्रष्ट करने देता है? उसे दुनिया को अराजकता और भ्रम के अस्वासकर वातावरण में क्यों बदलने देता है? उसे नष्ट क्यों नहीं कर देता है? यदि शैतान खत्म कर दिए जाएँ तो क्या मानवजाति ठीक नहीं हो जाएगी?" क्या आप लोग अभी इस प्रश्न को समझा सकते हैं? इसमें दूरदर्शिता शामिल है। …अंत के दिनों में जन्म लेने वाले लोग किस प्रकार के थे? ये वो लोग हैं जो हजारों सालों से शैतान द्वारा भ्रष्ट किए गए थे, वे इतनी गहराई तक भ्रष्ट किए गए थे कि वे कहीं से भी मानव नहीं लगते थे, जिन्होंने अंततः न्याय, ताड़न और परमेश्वर के वचन के प्रकटीकरण को देखा है, जिन्हें जीत लिया गया है और तब जिन्होंने परमेश्वर के वचनों में से सत्य को प्राप्त कर लिया है; ये वो लोग हैं जो परमेश्वर द्वारा ईमानदारी से भरोसा दिलाए गए हैं, जिन्हें परमेश्वर की समझ आ गई है, जो परमेश्वर की आज्ञा का पालन पूरी तरह से कर सकते हैं और उनकी इच्छा को संतुष्ट कर सकते हैं। परमेश्वर की प्रबंधन योजना की समाप्ति इस तरह के लोगों के समूह को प्राप्त करना है। आप मुझे बताएँ, क्या ये वे लोग हैं जो शैतान के भ्रष्टाचार से नहीं गुजरे हैं जो परमेश्वर की इच्छा की पूर्ति कर सकते हैं? या क्या ये वे लोग हैं जिन्हें अंत में बचाया जाएगा जो परमेश्वर की इच्छा पूर्ति कर सकते हैं? मनावजाति के वे लोग जो संपूर्ण प्रबंधन योजना के द्वारा प्राप्त किए जाएँगे, वे ऐसा समूह हैं जो परमेश्वर की इच्छा को समझ सकते हैं, जो परमेश्वर से सत्य प्राप्त करते हैं, जो जीवन और मानवीय समरूपता से युक्त होते हैं जिसकी परमेश्वर अपेक्षा करते हैं। सबसे पहले जब मनुष्य का निर्माण हुआ, वे सिर्फ इंसान दिखते थे और उनमें जीवन था। परंतु उनके भीतर मानवीय स्वरूपता नहीं थी जिसकी परमेश्वर को अपेक्षा थी या आशा थी कि वे लोग प्राप्त कर पाएँगे। लोगों का समूह जिन्हें अंततः यह प्राप्त होगा, वे लोग होंगे जो अंत में रहेंगे, और वह समूह भी वे होंगे जिसकी परमेश्वर को आवश्यकता है, जिसे परमेश्वर प्रेम करते हैं और जिससे परमेश्वर प्रसन्न रहते हैं। कई हजार वर्षों की प्रबंधन योजना के अंतर्गत, इन लोगों ने अधिक प्राप्त किया है, जो परमेश्वर द्वारा सींचे जाने से आया है और परमेश्वर के शैतान के साथ युद्ध के माध्यम से मनुष्य के लिए उपलब्ध कराया गया है। इस समूह के लोग उनके मुकाबले बेहतर हैं जिन्हें परमेश्वर ने आरंभ में बनाया था; भले ही वे भ्रष्टाचार से गुजरे हों, यह तो अपरिहार्य है, और यह ऐसा मामला है जो परमेश्वर की प्रबंधन योजना के अंतर्गत आता है जो उनकी सर्वशक्तिमत्ता और ज्ञान को विपुलता से प्रकट करता है, यह भी प्रकट करता है कि परमेश्वर ने जो भी व्यवस्थित, नियोजित और उपलब्ध किया है वह महानतम है।

"मसीह की बातचीतों के अभिलेख" से "केवल परमेश्वर की सर्वशक्तिमत्ता के बारे में जान कर ही आप सच्चा विश्वास रख सकते हैं" से

मेरी सम्पूर्ण प्रबन्धन योजना, ऐसी योजना जो छः हज़ार सालों तक फैली हुई है, तीन चरणों या तीन युगों को शामिल करती हैः आरंभ में व्यवस्था का युग; अनुग्रह का युग (जो छुटकारे का युग भी है); और अंत के दिनों में राज्य का युग। प्रत्येक युग की प्रकृति के अनुसार मेरा कार्य इन तीनों युगों में तत्वतः अलग-अलग है, परन्तु प्रत्येक चरण में यह मनुष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप है—या बल्कि, अधिक स्पष्ट कहें तो, यह उन छलकपटों के अनुसार किया जाता है जो शैतान उस युद्ध में काम में लाता है जो मैं उसके विरुद्ध शुरू करता हूँ। मेरे कार्य का उद्धेश्य शैतान को हराना, अपनी बुद्धि और सर्वशक्तिमत्ता को व्यक्त करना, शैतान के सभी छलकपटों को उजागर करना और परिणामस्वरूप समस्त मानवजाति को बचाना है, जो उसके अधिकार क्षेत्र के अधीन रहती है। यह मेरी बुद्धि और सर्वशक्तिमत्ता को दिखाने के लिए है जबकि उसके साथ-साथ ही शैतान की असहनीय करालता को प्रकट करती है। इससे भी अधिक, यह मेरी रचनाओं को अच्छे और बुरे के बीच में अन्तर करना सिखाने के लिए है, यह पहचानना सिखाने के लिए है कि मैं सभी चीज़ों का शासक हूँ, यह देखना सिखाने के लिए है कि शैतान मानवजाति का शत्रु है, व अधम से भी अधम है, दुष्ट है, और अच्छे एवं बुरे, सत्य एवं झूठ, पवित्रता एवं गन्दगी, और महान और हेय के बीच पूर्ण निश्चितता के साथ अंतर करना सिखाने के लिए है। इस तरह, अज्ञानी मानवजाति मेरी गवाही देने में समर्थ हो सकती है कि वह मैं नहीं हूँ जो मानवजाति को भ्रष्ट करता है, और केवल मैं—सृष्टि का प्रभु—ही मानवजाति को बचा सकता हूँ, मनुष्य को उसके आनन्द की वस्तुएँ प्रदान कर सकता हूँ; और उन्हें पता चल जाएगा कि मैं सभी चीज़ों का शासक हूँ और शैतान मात्र उन प्राणियों में से एक है जिनकी मैंने रचना की है और जो बाद में मेरे विरूद्ध हो गया।

"वचन देह में प्रकट होता है" से "छुटकारे के युग में कार्य के पीछे की सच्ची कहानी" से

अब आपको गौर करना चाहिए कि परमेश्वर ने शैतान को तुरन्त ही समाप्त नहीं किया, ताकि मनुष्य देख सके कि किस प्रकार शैतान ने लोगों को भ्रष्ट किया है, और किस प्रकार परमेश्वर ने लोगों को बचाया है। केवल तब जब मनुष्य देख पाता है कि किस सीमा तक शैतान ने मनुष्य को भ्रष्ट किया है, किस प्रकार उसके अपराधों की सूची स्वर्ग में पहुँचने पर अंततः परमेश्वर शैतान का नाश करता है, ताकि मनुष्य देख सके कि उसमें परमेश्वर की धार्मिकता और उसका स्वभाव है। जो कुछ परमेश्वर करता है उसमें वह धर्मी है। हालांकि आप उसे खोज पाने में असमर्थ हैं, फिर भी आपको अपनी इच्छानुसार दोष नहीं लगाना चाहिए। अगर आपको यह तर्कहीन प्रतीत होता है, या आपकी इस विषय में कोई धारणा है, और तब आप कहते हैं कि परमेश्वर धर्मी नहीं, तो यह बहुत ही तर्कहीन है।

"मसीह की बातचीतों के अभिलेख" से "परमेश्वर के धर्मी स्वभाव को कैसे समझें" से

पिछला:परमेश्वर का अंत का दिनों का कार्य चीन में क्यों किया जा रहा है, इस्राएल में क्यों नहीं?

अगला:अनुग्रह के युग में परमेश्वर का कार्य 2,000 वर्षों तक चला; और पुराने युग को समाप्त कर एक नये स्वर्ग और पृथ्वी की स्थापना करने के लिए परमेश्वर का अंत के दिनों का कार्य कितना लंबा चलेगा?

शायद आपको पसंद आये

वचन देह में प्रकट होता है अंतिम दिनों के मसीह के कथन - संकलन मेमने ने पुस्तक को खोला न्याय परमेश्वर के घर से शुरू होता है मसीह की बातचीतों के अभिलेख राज्य के सुसमाचार पर सर्वशक्तिमान परमेश्वर के उत्कृष्ट वचन -संकलन परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियां सच्चे मार्ग की खोजबीन पर एक सौ प्रश्न और उत्तर विजेताओं की गवाहियाँ मसीह के न्याय के अनुभव की गवाहियाँ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप राज्य के सुसमाचार पर उत्कृष्ट प्रश्न और उत्तर (संकलन) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया