सत्य को खोजने वाले सभी लोगों का हम से सम्पर्क करने का स्वागत करते हैं

मेमने का अनुसरण करना और नए गीत गाना

ठोस रंग

विषय-वस्तुएँ

फॉन्ट

फॉन्ट का आकार

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

0 खोज परिणाम

कोई परिणाम नहीं मिला

`

देहधारी परमेश्वर को किसने जाना है

I

चूँकि हो तुम एक नागरिक परमेश्वर के घराने के,

चूँकि हो तुम निष्ठावान परमेश्वर के राज्य में,

फिर जो कुछ भी तुम करते

हो उसे जरूर खरा उतरना चाहिए परमेश्वर के मानकों पर,

उन मानकों पर उतरे खरा जो हैं अपेक्षित परमेश्वर द्वारा।

परमेश्वर कहता है कि तुम ना बन जाओ एक घुमक्कड़ बादल,

लेकिन कहता है कि तुम बनो बर्फ जो है चमचमाती,

इसके सार और उससे बढ़कर इसके मूल्य को करो धारण।

है ऐसा इसलिए क्योंकि परमेश्वर आया था पवित्र भूमि से,

कमल की तरह नहीं, जिसका है केवल एक नाम,

है केवल एक नाम लेकिन है नहीं कोई सार।

क्योंकि यह आया था, कीचड़ से आया था,

यह नहीं आया है पवित्र भूमि से,

यह नहीं आया है पवित्र भूमि से।

II

जब नया स्वर्ग करता है अवरोहण धरती पर,

और जब नई धरती फैल जाती है आसमानों पर,

है यही वह समय भी जब परमेश्वर औपचारिक रूप से उसका

कार्य करता है मनुष्य के बीच करना शुरू।

क्या है कोई मनुष्य के बीच जो जानता हो परमेश्वर को?

किसने परमेश्वर के आगमन का पल देखा है?

जिसने देखा है उस परमेश्वर को उसके पास केवल है नहीं एक नाम,

बल्कि है उससे बढ़कर धारण कर रखा है सार?

परमेश्वर उसके हाथ से सफेद बादलों को हटाता है,

नज़दीक से आसमानों का अवलोकन कर रहा है।

नहीं है अंतरिक्ष में ऐसा कुछ जो उसके हाथ से व्यवस्थित नहीं होता है,

परमेश्वर के हाथ से व्यवस्थित।

सब कुछ होता है परमेश्वर के हाथ से व्यवस्थित।

परमेश्वर के पराक्रमी उद्यम को

करने पूरा ऐसा कोई नहीं जो नहीं दे रहा है योगदान।

परमेश्वर धरती पर लोगों से कभी बहुत कुछ नहीं है मांगता,

क्योंकि परमेश्वर हमेशा रहा है एक व्यावहारिक परमेश्वर,

क्योंकि परमेश्वर ने मनुष्य बनाया, और है जानता है मनुष्य को पूरी तरह,

सर्वशक्तिमान परमेश्वर, वह है सर्वशक्तिमान परमेश्वर।

वह जानता है पूरी अच्छी तरह, वह है।

वह जानता है पूरी अच्छी तरह, वह है।

"वचन देह में प्रकट होता है" से

पिछला:परमेश्वर चाहे ज़्यादा लोग उससे उद्धार पाएँ

अगला:परमेश्वर हमेशा इंसान की चुपचाप पोषित करता है और उसे सहारा देता है

शायद आपको पसंद आये