प्रस्तावना

1991 में, देहधारी सर्वशक्तिमान परमेश्वर प्रकट हुआ और उसने चीन में कार्य करना शुरू कर दिया। वह लाखों वचन व्यक्त कर चुका है, और परमेश्वर के घर से शुरू कर, अंत के दिनों का न्याय का कार्य कर रहा है। उसने अनुग्रह के युग को समाप्त कर, राज्य का युग शुरू कर दिया है, और स्वर्ग के राज्य के आगमन के सुसमाचार को फ़ैलाया है। सर्वशक्तिमान परमेश्वर ने मानवजाति को शुद्ध करने और बचाने के लिए सभी सत्यों को व्यक्त किया है, बाइबल में प्रकाशित वाक्य की पुस्तक के मुहरबंद हिस्से को पूरी तरह से खोल दिया है, परमेश्वर मानव जाति को कैसे बचाता है इससे सम्बंधित छह-हज़ार-वर्षीय योजना के रहस्यों को पूरी तरह से प्रकट कर दिया है, जैसे कि मानवजाति के प्रबन्धन के बारे में परमेश्वर का उद्देश्य क्या है, परमेश्वर द्वारा मानवजाति के उद्धार में तीन चरण क्यों हैं, परमेश्वर अंत के दिनों के अपने न्याय के कार्य को कैसे करता है, देहधारण का रहस्य, बाइबल की अंदर की कहानी, परमेश्वर का अनोखा अधिकार, परमेश्वर का धार्मिक स्वभाव, परमेश्वर की पवित्रता, शैतान मानव जाति को कैसे भ्रष्ट करता है, परमेश्वर मानवजाति को कैसे बचाता है, विपदाओं से पहले स्वर्गारोहण का रहस्य, विजेता कैसे बनाये जाते हैं, विभिन्न श्रेणियों के लोगों का अंतिम गंतव्य और अंत, मसीह का राज्य कैसे प्राप्त होगा, आदि। इसने सचमुच नए क्षितिज खोल दिए हैं और यह लोगों की आँखों को भा गया है! सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है: "जब मैं अंत के दिनों में अपनी पुस्तक को खोलूँगा तब मैं तुम लोगों को बताऊँगा। (पुस्तक उन सभी वचनों को संदर्भित करती है जो मैंने बोले हैं, अंत के दिनों में मेरे वचन—यह सब इसके अंदर हैं।)" ("वचन देह में प्रकट होता है" में 'आरंभ में मसीह के कथन' के 'अध्याय 110')। "अंत के दिनों का कार्य यहोवा और यीशु के कार्य को और उन सभी रहस्यों को प्रकट कर देता है जिन्हें मनुष्य के द्वारा समझा नहीं गया था। इसे मानवजाति की मंज़िल और अंत को प्रकट करने के लिए और मानवजाति के बीच उद्धार के सब कार्य का समापन करने के लिए किया जाता है। अंत के दिनों में कार्य का यह चरण सभी चीज़ों को समाप्ति की ओर ले आता है। मनुष्य के द्वारा समझे नहीं गए सभी रहस्यों को, मनुष्य को ऐसे रहस्यों में अंर्तदृष्टि पाने की अनुमति देने और उनके हृदयों में एक स्पष्ट समझ पाने के लिए, अवश्य उजागर किया जाना चाहिए। केवल तभी मनुष्य को उनके प्रकारों के अनुसार विभाजित किया जा सकता है" ("वचन देह में प्रकट होता है" में 'देहधारण का रहस्य (4)')। सर्वशक्तिमान परमेश्वर, अंत के दिनों के मसीह, के द्वारा व्यक्त किए गए वचन प्रचुर, फलदायक और व्यापक हैं, ताकि लोग यह देख सकें कि मसीह निश्चित रूप से मार्ग, सत्य और जीवन है, और वह मानवजाति के लिए अनन्त जीवन का मार्ग, शाश्वत जीवन का मार्ग लेकर आता है।

प्रभु यीशु ने कहा: "मेरी भेड़ें मेरा शब्द सुनती हैं; मैं उन्हें जानता हूँ, और वे मेरे पीछे पीछे चलती हैं" (यूहन्ना 10:27)। "जिसके कान हों वह सुन ले कि आत्मा कलीसियाओं से क्या कहता है" (प्रकाशितवाक्य 2:7)। सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहते हैं: "मेरे लोग निश्चित ही मेरी आवाज़ सुनेंगे, और हर वह आदमी, जो ईमानदारी से मुझसे प्रेम करता है, निश्चित ही मेरे सिंहासन के सामने लौट आएगा" ("वचन देह में प्रकट होता है" में 'संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन' के 'अध्याय 1')। जब से सर्वशक्तिमान परमेश्वर का अंत के दिनों का कार्य मुख्य भूमि चीन में शुरू हुआ, तब से विभिन्न मतों और संप्रदायों के उन लोगों ने जो वास्तव में परमेश्वर पर विश्वास करते हैं, जो सच्चाई से प्यार करते हैं, और परमेश्वर के प्रकटन के लिए तरसते हैं, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों में परमेश्वर की वाणी को पहचाना है। उन्होंने देखा है कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचन सत्य हैं, और वास्तव में कलीसियाओं से कहे गये आत्मा के कथन हैं, और यह कि परमेश्वर अंत के दिनों के दौरान अपना कार्य करने के लिए प्रकट हुआ है। ये लोग परमेश्वर के सिंहासन के सामने इकट्ठे हुए हैं। आजकल, दुनिया भर में अधिक से अधिक लोग सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों और कार्यों की जाँच करना चाहते हैं। मानवजाति को परमेश्वर के वचनों द्वारा धीरे-धीरे पुनर्जीवित किया गया है, अब उसने सत्य को स्वीकार करना और जानना शुरू कर दिया है। परमेश्वर के वचन मानवजाति को एक नए युग—राज्य के युग—में ले आएँगे। सब कुछ परमेश्वर के वचनों से प्राप्त किया जाएगा, और वे सभी लोग जो सत्य के लिए तरसते हैं और परमेश्वर के प्रकटन की खोज करते हैं, परमेश्वर के सिंहासन के सामने वापस लौट आएँगे। यह एक महान प्रवृत्ति है; यह वो वास्तविकता है जिसे परमेश्वर निश्चित रूप से पूरी करेगा।

वर्तमान में पूरी धार्मिक दुनिया में बहुत से लोग परमेश्वर के प्रकटन के लिए तरसते हैं और उसकी तलाश करते हैं, परन्तु चूँकि आत्मा कलीसियाओं से जो कहता है, वे उसकी खोज करने पर ज़ोर नहीं देते हैं, इसलिए वे परमेश्वर की वाणी को नहीं सुन पाते और परमेश्वर की वापसी का स्वागत नहीं कर सकते हैं। हमने सर्वशक्तिमान परमेश्वर द्वारा अंत के दिनों के अपने कार्य में व्यक्त किए गए दर्शन के सत्यों को लेकर उन्हें सुसमाचार फैलाने और परमेश्वर की गवाही देने के बीस सत्यों में संकलित और संपादित किया है, ताकि सभी देशों और स्थानों में वे लोग जो सत्य की तलाश करते हैं और परमेश्वर के प्रकटन के लिए तरसते हैं, आसानी से सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य की जांच और उसका अध्ययन कर सकें, परमेश्वर की वाणी सुन सकें और उसकी उपस्थिति में लाए जा सकें। जिज्ञासुओं के सामान्य धार्मिक विचारों के अनुसार, हमने परमेश्वर के वचनों, उपदेशों और संगतियों को व्यवस्थित किया है, ताकि उन्हें परमेश्वर के वचन के सत्य के प्रकाश में धार्मिक विचारों की मूर्खता और पूर्वाग्रह को स्पष्ट रूप से समझ पाने में मदद मिल सके। इस प्रकार लोग उन धार्मिक अवधारणाओं को जो उन्हें बांधें और रोके हुए हैं, त्याग सकते हैं, और परमेश्वर के अंत के दिनों के उद्धार के कार्य को स्वीकार कर सकते हैं और परमेश्वर के सिंहासन के सामने लाए जा सकते हैं, और वे मेमने के पदचिन्हों का अनुसरण करते हुए नये युग में प्रवेश कर सकते हैं।

अगला: 1. प्रभु यीशु ने स्वयं भविष्यवाणी की थी कि परमेश्वर आखिरी दिनों में देहधारण करेगा और कार्य करने के लिए मनुष्य के पुत्र के रूप में प्रकट होगा

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

19. पाखंड क्या है?

परमेश्वर के प्रासंगिक वचन:"फरीसी" शब्द की परिभाषा क्या है? यह कोई ऐसा व्यक्ति है जो पाखंडी है, जो नक़ली है और अपने हर कार्य में नाटक करता...

33. विपत्ति के पहले स्वर्गारोहण क्या है? ऐसा विजयी किसे कहते हैं जिसे विपत्ति से पहले पूर्ण किया जाता हो?

परमेश्वर के प्रासंगिक वचन:"उठाया जाना" नीचे स्थानों से उँचे स्थानों पर ले जाया जाना नहीं है जैसा कि लोग कल्पना करते हैं। यह एक बहुत बड़ी...

3. अनुग्रह के युग की तुलना में राज्य के युग में, कलीसियाई जीवन में क्या अंतर है?

संदर्भ के लिए बाइबल के पद:"जब वे खा रहे थे तो यीशु ने रोटी ली, और आशीष माँगकर तोड़ी, और चेलों को देकर कहा, 'लो, खाओ; यह मेरी देह है।' फिर...

1. बाइबल केवल व्यवस्था के युग और अनुग्रह के युग में परमेश्वर के कार्य के दो चरणों का एक आलेख (रिकॉर्ड) है; यह परमेश्वर के कार्य की संपूर्णता का आलेख नहीं है

संदर्भ के लिए बाइबल के पद:"मुझे तुम से और भी बहुत सी बातें कहनी हैं, परन्तु अभी तुम उन्हें सह नहीं सकते। परन्तु जब वह अर्थात् सत्य का आत्मा...

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें