from Follow the Lamb and Sing New Songs

published on

मानव जाति पर परमेश्वर की करुणा

परमेश्वर के वचन का भजन मानव जाति पर परमेश्वर की करुणा \"दया\" को..... कई तरीकों से समझ सकते है इसका मतलब तो प्यार, सुरक्षा और देखभाल है \"दया\"...का मतलब प्रभु से लगाव है लेकिन ज्यादा स्नेह किसी के नुकसान के लिए नहीं है जो उसके प्यार और कोमलता का छाया मात्र है और इस भावना को हम कभी भी खोना नहीं चाहेंगे यह परमेश्वर का रहम और सहनशीलता है इंसानों पर जबकि परमेश्वर ने सभी के लिए एक ही शब्द का प्रयोग किया लेकिन इसमें उनके दिल की आवाज़ और नज़रिया है हमारे लिए जब परमेश्वर बोले तो सब कुछ प्रकाशित हुआ नीनवह की सड़के भी, सदोम की तरह, भ्रष्ट, बुरी और हिंसक थी लेकिन वो पछताए तो भगवान का दिल बदल गया और उनका विनाश भी माफ़ हुआ परमेश्वर के शब्द और शिक्षा के लिए उनका रवैया सदोम के लोगों से अलग था उनका समर्पण भगवान के लिए पूरा था और अपने पापों के लिए पश्चाताप भी सच्चा था वो हर तरीके से मेहनती और ईमानदार थे तो परमेश्वर ने एक बार फिर करुणा दिखाई और उन पर कृपा की। \"वचन देह में प्रकट होता है से आगे जारी\" से

मानव जाति पर परमेश्वर की करुणा

  • लोड हो रहा है...
साझा करें Facebook
साझा करें Twitter
साझा करें Google+
साझा करें Pinterest
साझा करें Reddit