from Follow the Lamb and Sing New Songs

published on

ईश्वर मौन होकर हमारे बीच आते हैं

परमेश्वर के वचन का भजन ईश्वर मौन होकर हमारे बीच आते हैं ईश्वर मौन हैं, और नहीं करते खुद को जाहिर ईश्वर नही रुकते ना रूकता है उनका काम पूरी धरती पर वो नज़र रखे, सब चीज़ों को वे आदेश देते पूरी धरती पर वो नज़र रखे, सब चीज़ों को वे आदेश देते और रखते हैं थामे वचन और करम इंसान के उनका प्रबंधन संचालित है चरणों में, जो उनकी योजना के जरीये से बिना प्रतिक्रिया के, शान्त भाव से वो सब कुछ करते हैं फिर भी उनके कदमों के निशाँ मानव जाति के करीब आते है और उनके सिंहासन का न्याय फैला है, प्रकाश की गति से ब्रह्माण्ड में और उसके ही बाद सिंहासन का वंशज हमारे बीच था क्या शानदार दृश्य है ये, क्या आलिशान पवित्र है नजारा किसी परिंदे कि तऱह और जैसे गरजता है शेर पवित्र रूह उतरकर हम सब के बीच आई है, बीच आई है। वो ज्ञानवान है, वो है नेक और प्रतापी वो चुपचाप हम सब के बीच अधिकार के साथ आता है, जो भरा है करुणा से, हम केवल जारी रखते हैं अपने कारोबार मानो न है उसका लेना देना हमारे साथ हम केवल जारी रखते हैं अपने कारोबार मानो न है उसका लेना देना हमारे साथ वह थामे है सब यह वचन और करम इन्सान के ईश्वर मौन हैं, और कभी नहीं करते जाहिर खुद को हम पर ईश्वर नही रुकते ना रूकता है उनका काम \"वचन देह में प्रकट होता है\" से

ईश्वर मौन होकर हमारे बीच आते हैं

  • लोड हो रहा है...
साझा करें Facebook
साझा करें Twitter
साझा करें Google+
साझा करें Pinterest
साझा करें Reddit