प्रस्तावना

1991 का वर्ष पूरी मानवजाति के लिए ज़बर्दस्त और दूरगामी महत्व का था, इंसान इतना ज़्यादा भ्रष्ट हो चुका है। इसी वर्ष हमारा उद्धारक यीशु आखिरकार प्रकट हुआ। जो लोग पूरी निष्ठा से प्रभु में विश्वास रखते थे और जिनमें सत्य की भूख थी, उन्होंने लम्बे समय तक प्रतीक्षा की थी, और वह लौटा अंत के दिनों के देहधारी सर्वशक्तिमान परमेश्वर के रूप में। सर्वशक्तिमान परमेश्वर के आगमन ने लोगों की धारणाओं को गलत साबित कर दिया, क्योंकि वह सफेद बादल पर सवार होकर इस्राएल में प्रकट नहीं हुआ, न ही वह खुले तौर पर तमाम राष्ट्रों और लोगों के सामने प्रकट हुआ; वह गुप्त रूप से नास्तिकता के अजेय दुर्ग—चीन में आया, एक ऐसी धरती पर जहाँ बड़ा लाल अजगर कुण्डली मारे पड़ा है, उसने परमेश्वर के घर से आरंभ होने वाला न्याय का कार्य शुरू किया है। चूँकि दुनिया में चीन ही सबसे ज़्यादा अंधकारपूर्ण, सबसे भ्रष्ट, सबसे अधिक परमेश्वर-विरोधी देश है, चूँकि इसी धरती को बड़े लाल अजगर और तमाम तरह की दुष्ट आत्माओं ने अपना घर बना लिया है, इसलिए परमेश्वर यहीं पर अपने वचन बोलता है, और यहीं पर उन लोगों का न्याय करता है, ताड़ना देता है शुद्ध करता है और बचाता है जिन्हें बड़े लाल अजगर ने धोखा दिया है और बुरी तरह से भ्रष्ट कर दिया है। इस कार्य के ज़रिए परमेश्वर ने दुनिया के पूर्व में विजेताओं के एक ऐसे समूह को हासिल किया है जो शैतान पर परमेश्वर की विजय का प्रमाण बन चुका है, इस तरह परमेश्वर की बुद्धि और सर्वशक्तिमत्ता अधिक स्पष्ट रूप से प्रकट हुई है। जैसा कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है: "कई जगहों पर, परमेश्वर ने सीनियों के देश में जीतने वालों के एक समूह को प्राप्त करने की भविष्यवाणी की है। दुनिया के पूर्व में विजेताओं को प्राप्त किया जाता है, इसलिए परमेश्वर के दूसरे देहधारण के अवतरण का स्थान बिना किसी संदेह के, सीनियों का देश है, ठीक वहीं जहाँ बड़ा लाल अजगर कुण्डली मारे पड़ा है। वहाँ परमेश्वर बड़े लाल अजगर के वंशज को प्राप्त करेगा ताकि यह पूर्णतः पराजित और शर्मिंदा हो जाए। परमेश्वर इन गहन रूप से पीड़ित लोगों को जगाना चाहता है, उन्हें पूरी तरह से जगाना और उन्हें कोहरे से बाहर निकालना चाहता है और चाहता है कि वे उस बड़े लाल अजगर को ठुकरा दें। परमेश्वर उन्हें उनके सपने से जगाना, उन्हें बड़े लाल अजगर के सार से अवगत कराना, उनका संपूर्ण हृदय परमेश्वर को दिलवाना, अंधकार की ताक़तों के दमन से बाहर निकालना, दुनिया के पूर्व में खड़े होना, और परमेश्वर की जीत का सबूत बनाना चाहता है। केवल तभी परमेश्वर महिमा को प्राप्त करेगा" ("वचन देह में प्रकट होता है" में "कार्य और प्रवेश (6)")। अंत के दिनों के मसीह के कार्य और उसके वचनों के कारण, चीन में परमेश्वर के चुने हुए लोग जो बड़े लाल अजगर के अंधकारपूर्ण शासन में रहते हुए, बुरी तरह से उसके धोखे का शिकार हुए हैं, उन्हें सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों ने जीत लिया है। वे लोग एक-एक करके, बड़े लाल अजगर के बंधन और नियंत्रण से मुक्त हो गये हैं और सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का सिंचन और आपूर्ति, काट-छाँट और निपटारा, न्याय और ताड़ना, साथ ही हर प्रकार के परीक्षणों और शुद्धिकरण को पाने के लिए परमेश्वर के सिंहासन के सामने लौट आए हैं। आखिरकार, उन बहुत से तरीकों के बीच जिनसे बड़े लाल अजगर की सत्ता उनका पीछा करती और सताती है, परमेश्वर के चुने हुए लोग गवाही देते हैं, इस तरह वे लोग परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य के नमूने और आदर्श बनते हैं जिन्हें परमेश्वर चीन में पूर्ण करता है, और वे लोग शैतान की दुष्ट ताकतों पर परमेश्वर की विजय का प्रमाण भी बनते हैं।

जब से सर्वशक्तिमान परमेश्वर का अंत के दिनों का कार्य मुख्यभूमि चीन में शुरू हुआ है, तब से बड़े लाल अजगर ने सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया को सताना बंद नहीं किया है। परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य को मिटाने के लिए, चीन को परमेश्वर-रहित क्षेत्र बनाने के लिए, और इंसानियत को हमेशा के नियंत्रित करने के अपने मकसद के लिए, ये वही करता है जिसमें इसे महारथ हासिल है: परमेश्वर के कार्य का विरोध करने के लिए रुकावट डालना, तबाही मचाना, और वो सब करना जो यह कर सकता है। परमेश्वर के चुने हुए लोगों पर आक्रमण करने और उन पर झूठे आरोप मढ़ने के लिए बड़ा लाल अजगर न सिर्फ़ हर तरह की अफवाहें और झूठ फैलाता है, बल्कि उन्हें सताने के लिए हर तरह के घिनौने हथकंडे अपनाता है: यह खुले तौर पर और गुप्त रूप से, दोनों तरह से लोगों की जाँच करता है, लोगों के फोन कॉल्स पर नज़र रखता है, साये की तरह उनका पीछा करता है, गुप्त रूप से लोगों को गिरफ्तार करता है, उनके घरों की तलाशी लेता है, उनसे जुर्माना वसूलता है, उनका उत्पीड़न करके उनसे अपराध स्वीकार करवाता है, उन्हें धमकाता और फुसलाता है, और यह लोगों को तन और मन दोनों तरह से तोड़ देता है। इन हथकंडों के ज़रिए परमेश्वर के चुने हुए अनगिनत लोग गिरफ्तार हुए हैं, उन्हें क्रूरता से पीटा गया है, जबरन सश्रम पुनर्शिक्षा में डाला गया है, उनमें से कुछ तो अपाहिज हो गये हैं या अपनी जान गँवा बैठे हैं। बड़ा लाल अजगर ये हथकंडे इसलिए अपनाता है ताकि परमेश्वर के चुने हुए लोग परमेश्वर को नकार दें और उससे दगा करें, ताकि वे लोग हमेशा के लिए इसके नियम-कानून को, इसके आधिपत्य को, इसके दमन और शोषण को मानें। लेकिन परमेश्वर एक सर्वशक्तिमान परमेश्वर है, वह अपनी बुद्धि को शैतान के कपटी षडयंत्रों के हिसाब से उपयोग में लाता है। बड़े लाल अजगर के भयंकर अत्याचारों से, हालाँकि, परमेश्वर के चुने हुए लोगों को बहुत पीड़ा और कष्ट उठाने पड़ते हैं, परेशानियों का सामना करना पड़ता है जिनमें जीवित बचने के अवसर बहुत कम होते हैं, लेकिन फिर भी उन्हें साफ तौर पर बड़े लाल अजगर के प्रतिक्रियात्मक और दुष्ट सार को देखने का मौका मिलता है, जो कि बहुत ही विकृत और स्वर्ग के बिल्कुल विपरीत है, वे लोग उसके शैतानी चेहरे को भी देख पाते हैं। उनके मन में बड़े लाल अजगर के प्रति भयंकर नफरत पैदा हो जाती है, और परमेश्वर की खातिर गवाही देने का संकल्प पैदा हो जाता, फिर भले ही उन्हें इसके लिए अपनी जान ही क्यों न गँवानी पड़े। अंत में, वे लोग परमेश्वर के वचनों के प्रकाशन, मार्गदर्शन और उस शक्ति पर भरोसा करते हैं जो परमेश्वर उन्हें प्रदान करता है, और ऐसा तब तक होता है, जब तक कि वे पूरी तरह से अपनी दैहिक कमज़ोरियों पर काबू नहीं पा लेते, मौत की पकड़ से अपने आपको मुक्त नहीं कर लेते, सच्ची आस्था और परमेश्वर के लिए प्रेम से भरे दिल के साथ, वे लोग बड़े लाल अजगर के सामने परमेश्वर की शानदार गवाही देते हैं, शैतान को बुरी तरह से शर्मिंदा और परास्त करते हैं। जैसा कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है: "जिन लोगों को परमेश्वर विजेताओं के रूप में संदर्भित करता है ये वे लोग हैं जो अभी भी गवाह बनने, और शैतान के प्रभाव में होने और शैतान की घेराबंदी में होने पर, अर्थात्, जब अंधकार की शक्तियों के भीतर हों, तो अपना आत्मविश्वास और परमेश्वर के प्रति अपनी भक्ति बनाए रखने में सक्षम हैं। यदि तुम अभी भी परमेश्वर के लिए पवित्र दिल और अपने वास्तविक प्यार को बनाए रखने में सक्षम हो, तो चाहे कुछ हो जाए, तुम परमेश्वर के सामने गवाह बनते हो, और यही वह है जिसे परमेश्वर एक विजेता होने के रूप में संदर्भित करता है" ("वचन देह में प्रकट होता है" में "तुम्हें परमेश्वर के प्रति अपनी भक्ति अवश्य बनाए रखनी चाहिए")। इसलिए यह विजेताओं का ऐसा समूह है जिसे बड़े लाल अजगर के भयंकर दमन के चलते परमेश्वर के वचनों के द्वारा शिक्षा दी जाती है और पूर्ण बनाया जाता है।

लोगों को, ये सामान्य नज़र आते हैं, लेकिन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों के सिंचन और पोषण से, उन्हें थोड़े-बहुत सत्य समझ में आ जाते हैं, और ये लोग शैतान के कलुषित प्रभाव को दूर करने, परमेश्वर का अनुसरण करने और सही मार्ग पर चलने के लिए आस्था और दृढ़ता हासिल कर लेते हैं। इसलिए ये लोग परमेश्वर से ही प्रार्थना करते हैं, परमेश्वर पर ही भरोसा करते हैं, परमेश्वर के वचनों द्वारा प्रदान की गयी शक्ति पर निर्भर रहकर धार्मिक बने रहते हैं। इनके साथ बड़े लाल अजगर द्वारा जो अमानवीय क्रूरता और भयानक अत्याचार किया जाता है, और इन्हें जितने दिन भी निस्तज अवस्था में जेल की काल-कोठरी में गुज़ारने पड़ते हैं, उसके आगे ये लोग न तो झुकते हैं और न उससे हार मानते हैं। हालाँकि कुछ तो अत्याचारों के कारण मौत के कगार पर पहुँच जाते हैं, लेकिन इससे उनके सत्य का अनुसरण करने का संकल्प और भी मज़बूत हो जाता है; यद्यपि उनमें से कुछ अपनी जवानी के चरम पर होते हैं, लेकिन जब उन्हें बड़े लाल अजगर के शैतानों के हाथों क्रूर अत्याचार और कैद भुगतनी पड़ती है, तो उनसे प्रेम का आभामंडल निकलता है और वे अपनी जवानी बिना किसी मलाल के बिता देते हैं; कुछ तो दरिंदों के हाथों उत्पीड़न, मुश्किलें और पाशविक अत्याचार झेलते हैं, फिर भी उनमें यही भाव रहता है कि परमेश्वर का अनुग्रह कितना अनमोल है, परमेश्वर के लिए उनका प्रेम और भी मज़बूत हो जाता है; जब वे लोग कठिन मार्ग पर चलते हुए, क्रूरता को झेल रहे होते हैं, तो उनमें से कुछ को परमेश्वर के वचनों का प्रकाशन, प्रेरणा और मार्गदर्शन मिल जाता है, उनकी आत्मा जाग जाती है, और वे लोग जीवन के लिए गुणगान के गीत रचते हैं; कुछ लोग अंधेरे और दमन के खिलाफ संघर्ष करते हैं, और खतरे के समय, वे लोग परमेश्वर की जीवन-शक्ति की श्रेष्ठता और महानता का अनुभव करते हैं; कुछ लोग परमेश्वर पर निर्भर रहते हैं और अंतिम क्षणों में मौत के मुँह से बचा लिए जाते हैं, वे लोग परमेश्वर के प्रेम की अतुलनीय विशालता को देखते हैं, और परमेश्वर के वचनों में ऐसे स्तंभ को पाते हैं जो उन्हें जीवन से जोड़े रखता है। इसलिए, यह स्पष्ट है कि, हालाँकि परमेश्वर के चुने हुए लोगों का यह समूह जो परमेश्वर के मार्गदर्शन में शैतान को परास्त करता है, दैहिक सुखों का नुकसान उठाता है, लेकिन फिर भी वे लोग सत्य को हासिल करते हैं, आध्यात्मिक मुक्ति पाते हैं, और एक सार्थक जीवन जीते हैं। हालाँकि वे लोग आँधी-तूफ़ान से गुज़रते हैं और कठोर मुश्किलों का सामना करते हैं, लेकिन वे शैतान के सामने परमेश्वर की मज़बूत और शानदार गवाही देते हैं, और ऐसे विजेता बनते हैं जिन्हें मुश्किलों के बीच परमेश्वर शुक्षा देकर पूर्ण बनाता है। इससे सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचन पूरी तरह से साकार होते हैं: "मैं पहले कह चुका हूँ कि पूर्व दिशा से जीतने वालों का एक समूह प्राप्त किया जाता है, ऐसे जीतने वाले जो महान क्लेश से गुजर कर आते हैं" ("वचन देह में प्रकट होता है" में "परमेश्वर के वचन के द्वारा सब कुछ प्राप्त हो जाता है")।

जब आप यह पुस्तक पढ़ेंगे, तो आपके दिमाग में यह बात आ सकती है: क्या परमेश्वर सर्वशक्तिमान नहीं है? वह बड़े लाल अजगर की सत्ता को इजाज़त क्यों देता है कि वो परमेश्वर के चुने हुए लोगों को इस तरह नुकसान पहुँचाए? अगर आप ऐसा सोचते हैं, तो इससे ज़ाहिर होता है कि आप अभी भी परमेश्वर की सर्वशक्तिमत्ता और बुद्धि को पूरी तरह से नहीं समझते, क्योंकि जो लोग परमेश्वर के कार्य को नहीं जानते, वही लोग चीज़ों को मात्र उनके बाहरी रूप के आधार पर परखते हैं, चीज़ों को केवल अपनी धारणाओं और कल्पनाओं के आधार पर परखते हैं—परमेश्वर के कार्य के सच्चे लाभों को पहचानने का यह कोई तरीका नहीं है। सर्वशक्तिमान परमेश्वर कहता है: "जब मैं औपचारिक रूप से अपना कार्य शुरू करता हूँ, तो सभी लोग वैसे ही चलते हैं जैसे मैं चलता हूँ, इस तरह कि समस्त संसार के लोग मेरे साथ कदम मिलाते हुए चलने लगते हैं, संसार भर में 'उल्लास' होता है, और मनुष्य को मेरे द्वारा आगे की ओर प्रेरित किया जाता है। परिणामस्वरूप, बड़ा लाल अजगर मेरे द्वारा उन्माद और व्याकुलता की स्थिति में डाल दिया जाता है, और वह मेरा कार्य करता है, और, अनिच्छुक होने के बावजूद भी, अपनी स्वयं की इच्छाओं का अनुसरण करने में समर्थ नहीं होता है, और उसके पास मेरे नियन्त्रण में समर्पित होने के अलावा कोई विकल्प नहीं रहता है। मेरी सभी योजनाओं में, बड़ा लाल अजगर मेरी विषमता, मेरा शत्रु, और मेरा सेवक भी है; वैसे तो, मैंने उससे अपनी 'अपेक्षाओं' को कभी भी शिथिल नहीं किया है। इसलिए, मेरे देहधारण के काम का अंतिम चरण उसके घराने में पूरा होता है। इस तरह से, बड़ा लाल अजगर मेरी उचित तरीके से सेवा करने में अधिक समर्थ है, जिसके माध्यम से मैं उस पर विजय पाऊँगा और अपनी योजना को पूरा करूँगा" ("वचन देह में प्रकट होता है" में संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन के "अध्याय 29")। "परमेश्वर का उद्देश्य बुरी आत्माओं के कार्य के एक हिस्से का उपयोग करके मनुष्य के एक हिस्से को पूर्ण करना है, ताकि ये लोग राक्षसों के कार्यों को पूरी तरह देख सकें, और वे अपने पूर्वजों को सही मायने में समझ सकें। केवल तब ही मनुष्य पूरी तरह से स्वतंत्र हो सकते हैं, न केवल राक्षसों की बल्कि अपने पूर्वजों की वंशावली को भी छोड़ सकेंगे। बड़े लाल अजगर को पूरी तरह हराने का यह परमेश्वर का मूल इरादा है, ताकि सभी मनुष्य बड़े लाल अजगर के सच्चे रूप को जान सकें, उसके मुखौटे को पूरी तरह से उतार कर उसका वास्तविक स्वरूप देख सकें। परमेश्वर यही प्राप्त करना चाहता है, और पृथ्वी पर यही उसका अंतिम लक्ष्य है जिसके लिए उसने इतना काम किया है; वह सभी मनुष्यों में इसे हासिल करना चाहता है। इसे परमेश्वर के उद्देश्यों के लिए सभी चीज़ों की युक्ति के रूप में जाना जाता है" ("वचन देह में प्रकट होता है" में संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचनों के रहस्य की व्याख्या के "अध्याय 41")। परमेश्वर अपने कार्य के हर चरण में, अपने लिए कार्य करवाने और सेवा लेने के लिए तमाम चीज़ों को एकत्रित करता है, और परमेश्वर के अंत के दिनों के कार्य में ठीक यही होता है जो उसने पूरे चीन में शुरू किया है। बड़ा लाल अजगर भी कोई अपवाद नहीं है, क्योंकि वह भी परमेश्वर के कार्य में एक विषमता तुलना और सेवापात्र बन गया है। बड़े लाल अजगर के हाथों परमेश्वर के कार्य का प्रतिरोध करवाकर और उसमें रुकावट डलवाकर, परमेश्वर सबके सामने उसके असली चेहरे को उजागर करता है ताकि लोग उसे पहचान लें, और उससे सारे संबंध तोड़कर उसकी बेड़ियों से आज़ाद हो जाएँ। लेकिन परमेश्वर का लोगों को दुष्टात्माओं की करतूतें दिखाने और हमेशा के लिए बड़े लाल अजगर का त्याग करवाने से उनके उद्धार हासिल करने का क्या संबंध है? जैसा कि हम सब जानते हैं, बड़ा लाल अजगर विकृत रूप से पेश आता है, यह स्वर्ग के विपरीत कार्य करता है, और बहुत ही प्रतिक्रियावादी है। यह चीन को एक परमेश्वर-रहित क्षेत्र बनाने और चीन के लोगों को पूरी तरह से कलुषित सत्ता के अधीन लाने के लिए, सत्य को एकदम पलट देता है, नास्तिकवाद और भौतिकवाद को निर्दयतापूर्वक आगे बढ़ाता है, लोगों के दिमाग को दूषित करने के लिए हर तरह की भ्राँतियों और पाखंड को प्रचारित करता है, उनकी आत्माओं को धोखा देता है, और परमेश्वर के उद्धार को स्वीकार करने के लिए लोगों को उसके सामने आने से रोकता है। इस तरह वो हमेशा के लिए लोगों को नियंत्रित करने और निगल जाने के अपने मकसद को पूरा करता है। अगर लोग बड़े लाल अजगर के धोखे के प्रति जागरुक होना चाहते हैं, उसकी तानाशाही और दमन से पिंड छुड़ाना चाहते हैं, और पूरी तरह से परमेश्वर की ओर मुड़ना चाहते हैं, तो वे बड़े लाल अजगर के हाथों उत्पीड़न और दमन का अनुभव करके ही उसकी दुष्ट, कुटिल, घिनौने और निर्लज्ज शैतानी चेहरे को देख सकते हैं, तभी वे लोग उससे तहेदिल से नफरत कर पाएँगे, उसे धिक्कार पाएँगे। तब वे लोग बड़े लाल अजगर से सारे संबंध तोड़ने की शपथ लेते हैं, हमेशा के लिए शैतान के प्रभाव को मिटा देते हैं, परमेश्वर का अनुसरण करते हैं, उसका आज्ञापालन करते हैं और जीवन में सही मार्ग पर चलकर सत्य का अनुसरण करते हैं और पूर्ण उद्धार पाते हैं। इसलिए यह स्पष्ट है कि परमेश्वर बड़े लाल अजगर का इस्तेमाल विषमता तुलना और सेवापात्र के रूप में करता है ताकि उसके चुने हुए लोग सत्य को समझें, विवेक विकसित करें, परमेश्वर के लिए गवाही दें, और अंत में पूर्ण होकर पूरा उद्धार प्राप्त करें। परमेश्वर के कार्य करने का तरीका भव्य और शानदार है! परमेश्वर बड़े लाल अजगर के भयंकर दमन का इस्तेमाल अपने चुने हुए लोगों को पूर्ण बनाने, उन्हें अपने धार्मिक स्वभाव, बुद्धि और सर्वशक्तिमत्ता का ज्ञान कराने के लिए और यह दिखाने के लिए करता है कि परमेश्वर का कार्य कितना व्यवहारिक है, ताकि वे तमाम लोग तहेदिल से परमेश्वर का सच्चा गुणगान करें। जैसा कि सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचन कहते हैं: "मेरी योजना में, शैतान ने हमेशा हर कदम का बहुत तेजी से पीछा किया है, और मेरी बुद्धि की विषमता के रूप में, हमेशा मेरी वास्तविक योजना को बिगाड़ने के लिए उसने तरीके और संसाधनों को खोजने की कोशिश की है। परन्तु क्या मैं उसकी धोखेबाज़ योजनाओं से परास्त हो सकता हूँ? सभी जो स्वर्ग में और पृथ्वी पर हैं मेरी सेवा करते हैं—क्या शैतान की कपटपूर्ण योजनाएँ कुछ अलग हो सकती हैं? यह निश्चित रूप से मेरे ज्ञान का प्रतिच्छेदन है, यह निश्चित रूप से वह है जो मेरे कर्मों के बारे में चमत्कारिक है, और यही वह सिद्धांत है जिसके द्वारा मेरी पूरी प्रबंधन योजना चलती है। राज्य के निर्माण के दौरान भी मैं शैतान की कपटपूर्ण योजनाओं से बचता नहीं हूँ, बल्कि उस कार्य को करता रहता हूँ जो मुझे करना होता है। ब्रह्मांड में सभी वस्तुओं के बीच, मैंने अपनी विषमता के रूप में शैतान के कर्मों को चुना है। क्या यह मेरी बुद्धि नहीं है? क्या यह निश्चित रूप से वह नहीं है जो मेरे कार्यों के बारे में अद्भुत है? राज्य के युग में प्रवेश के अवसर पर, स्वर्ग में और पृथ्वी पर सभी वस्तुओं में आश्चर्यजनक बदलाव आते हैं, और वे जश्न मनाते हैं और आनन्द उठाते हैं। क्या तुम लोग कुछ अलग हो? कौन अपने हृदय में शहद के समान मिठास महसूस नहीं करता है? कौन अपने हृदय में खुशी से नहीं फट पड़ता है? कौन खुशी से नृत्य नहीं करता है? कौन प्रशंसा के वचन नहीं बोलता है?" ("वचन देह में प्रकट होता है" में संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचन के "अध्याय 8")।

विजेताओं की गवाहियाँ नामक पुस्तक में संकलित विवरण, चीन में परमेश्वर के उन चुने हुए लोगों की गवाहियाँ हैं, जो बड़े लाल अजगर के भयंकर उत्पीड़न के बीच परमेश्वर के वचनों के द्वारा पूर्ण बनाए जा रहे हैं। ज़ाहिर तथ्यों के मुताबिक, परमेश्वर बड़े लाल अजगर का कट्टर प्रतिरोध और उत्पीड़न का इस्तेमाल अपने चुने हुए लोगों को शिक्षा देने, उन्हें पूर्ण बनाने, उनके जीवन को विकसित करने और परिपक्व बनाने के लिए करता है। साथ ही, परमेश्वर इस प्रतिरोध और उत्पीड़न का इस्तेमाल उन दुष्ट लोगों को मिटाने और उजागर करने के लिए भी करता है जो उसमें सच्चा विश्वास नहीं रखते और सत्य को प्यार नहीं करते। यह इस बात को बिल्कुल सही ढंग से व्यक्त करता है कि परमेश्वर अपनी बुद्धि का उपयोग शैतान की कपटी साज़िशों के आधार पर ही करता है, परमेश्वर ने पहले ही बड़े लाल अजगर को बुरी तरह से हरा दिया है, और उसने समस्त महिमा पा ली है!

सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचन कहते हैं: "जहाँ कहीं भी देहधारण प्रकट होता है, उस जगह से दुश्मन नष्ट हो जाता है। परमेश्वर के हाथ से सर्वनाश किए जाने वालों, बर्बाद किए जाने वालों में चीन सबसे पहला है। परमेश्वर चीन पर बिल्कुल भी दया नहीं दिखाता है। बड़े लाल अजगर के उत्तरोत्तर ढहने का सबूत लोगों की निरंतर परिपक्वता में देखा जा सकता है। इसे किसी के भी द्वारा स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। लोगों की परिपक्वता दुश्मन की मृत्यु का संकेत है" ("वचन देह में प्रकट होता है" में संपूर्ण ब्रह्मांड के लिए परमेश्वर के वचनों के रहस्य की व्याख्या के "अध्याय 10")। परमेश्वर के चुने हुए लोग जो उसकी गवाही देते हैं, एक ऐसा समूह हैं जो ठीक बड़े लाल अजगर के देश के पतन के समय गवाही देते हैं; वे लोग शैतान के साथ परमेश्वर के युद्ध की विजय की गवाही हैं, शैतान की पराजय और अपमान के अकाट्य प्रमाण हैं। परमेश्वर के लोगों की परिपक्वता बड़े लाल अजगर के देश के पतन का ऐलान करती है। चीनी मुख्यभूमि पर परमेश्वर के कार्य की परिणति गौरवमय होगी: उसने लोगों के एक समूह को विजेता बनाया है और उसने अपनी महिमा पा ली है! अब परमेश्वर के चुने हुए लोगों ने परमेश्वर के कार्य की गवाही विश्व के कोने-कोने में देने और परमेश्वर के पवित्र नाम को फैलाने के पावन मिशन को अपने कंधों पर ले लिया है। परमेश्वर का नाम पूरी कायनात में गूँजेगा, सभी लोग परमेश्वर के आगे समर्पित होंगे, देहधारी सर्वशक्तिमान परमेश्वर की आराधना करेंगे, और दुनिया के सारे देश मसीह देश बन जाएँगे—ऐसा परमेश्वर द्वारा जल्दी ही किया जाएगा!

16 अगस्त, 2014

अगला: 1. शैतान के अंधेरे कारागार में मेरे साथ परमेश्वर का प्रेम था

दुनिया आपदा से घिर गई है। यह हमें क्या चेतावनी देती है? आपदाओं के बीच हम परमेश्वर द्वारा कैसे सुरक्षित किये जा सकते हैं? इसके बारे में ज़्यादा जानने के लिए हमारे साथ हमारी ऑनलाइन मीटिंग में जुड़ें।
WhatsApp पर हमसे संपर्क करें
Messenger पर हमसे संपर्क करें

संबंधित सामग्री

3. एक युवा जिसे पछतावा नहीं है

लेखिका: शाओवेन, चोंगकिंग शहर"प्रेम एक शुद्ध भावना है, शुद्ध बिना किसी भी दोष के। अपने हृदय का प्रयोग करो, प्रेम के लिए, अनुभूति के लिए और...

23. परमेश्वर मुझे राह दिखाता है ताकि मैं शैतान की क्रूरता पर काबू पर सकूँ

लेखिका: वांग हुआ, हेनान प्रांतमैं और मेरी बेटी सर्वशक्तिमान परमेश्वर की कलीसिया से जुड़े ईसाई हैं। परमेश्वर का अनुसरण करने के दौरान, सीसीपी...

21. परमेश्‍वर का प्रकाश विपत्ति में मेरा मार्गदर्शन करता है

झाओ शिन, शिचुआन प्रान्‍तमैं बचपन में पहाड़ों पर रहती थी। मैंने बहुत ज्‍़यादा दुनिया नहीं देखी थी और मेरी कोई बड़ी महत्‍वाकांक्षाएँ नहीं...

वचन देह में प्रकट होता है अंत के दिनों के मसीह के कथन (संकलन) अंत के दिनों के मसीह, सर्वशक्तिमान परमेश्वर के अत्यावश्यक वचन परमेश्वर के दैनिक वचन सर्वशक्तिमान परमेश्वर के वचनों का संकलन मेमने का अनुसरण करो और नए गीत गाओ जीवन में प्रवेश पर उपदेश और वार्तालाप अंत के दिनों के मसीह के लिए गवाहियाँ परमेश्वर की भेड़ें परमेश्वर की आवाज को सुनती हैं (नये विश्वासियों के लिए अनिवार्य चीजें) परमेश्वर की आवाज़ सुनो परमेश्वर के प्रकटन को देखो राज्य के सुसमाचार पर अत्यावश्यक प्रश्न और उत्तर (संकलन) मसीह के न्याय के आसन के समक्ष अनुभवों की गवाहियाँ विजेताओं की गवाहियाँ (खंड I) मैं वापस सर्वशक्तिमान परमेश्वर के पास कैसे गया

सेटिंग्स

  • इबारत
  • कथ्य

ठोस रंग

कथ्य

फ़ॉन्ट

फ़ॉन्ट आकार

लाइन स्पेस

लाइन स्पेस

पृष्ठ की चौड़ाई

विषय-वस्तु

खोज

  • यह पाठ चुनें
  • यह किताब चुनें